Home » खेल-तमाशा, है कुछ खास...पहला पन्ना

भगवान, जल्दी लाओ `कप’, छलक रही है उम्मीदों की चाय

1 April 2011 2 Comments

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेल प्रेमियों की तालियों की गड़गड़हाट के बीच जब मास्टर ब्लास्ट सचिन तेंदुलकर मैदान पर उतरेंगे तो उनकी आंखों में एक ही सपना होगा विश्वकप जीतने का… सचिन तेंदुलकर के पास रिकॉर्ड्स की एक लंबी फेहरिस्त है… उपलब्धियों की अच्छी-खासी संख्या है…नहीं है तो विश्वकप की वो चमचमाती ट्रॉफी, जिसपर इंडिया सिर्फ एक बार ही कब्जा जमा सका है…

इक्कीस साल के लंबे करियर में आज भी क्रिकेट के भगवान के दिल में एक ही कसक है विश्वकप को हाथ में ना उठा पाने की… लेकिन अब सचिन के पास एक बार फिर से मौका है खुद को साबित करने का… खुद के सपने के साथ-साथ करोड़ों देशवासियों के सपने को पूरा करने का…

सचिन ने करियर का पहला विश्वकप उन्नीस सौ बान्नबे में खेला था… तब से लेकर आज तक सचिन ने ना जाने कितने रिकॉर्ड बनाए कितने तोड़े… लेकिन टीस आज भी वही है–वर्ल्ड कप ट्रॉफी को ना जीत पाना… सचिन आज भी उस यादगार लम्हे के इंतज़ार में आंखे बिछाए हुए क्रिकेट खेल रहे हैं, जब वो विश्वकप जीतने वाली टीम का हिस्सा बनेंगे…

इस अहम जीत के साथ-साथ सचिन पर ये भी दबाव होगा कि वो अपने मैदान पर देशवासियों को निराश नहीं करें और शतकों का शतक पूरा करें… सचिन इस विश्वकप में लगातार इस जादुई आंकड़े को छूने में नाकाम रहे हैं…ऐसे में लोगों में इस बात की भी बेसब्री बढ़ गई है। क्या इस मैच में सचिन शतकों का शतक पूरा कर सकेंगे क्योंकि सेमीफाइनल में वो शतक के करीब पहुंचकर चूक गए थे…

 

सचिन की पेंटिंग, साभार : maja.up-with.com

अभितोष सिंह युवा पत्रकारिता का वो चेहरा हैं, जिससे बहुत उम्मीद है। मृदुभाषी अभितोष ने हाल में ही वैवाहिक जीवन की पारी शुरू की है। फोकस टीवी की हिंदी आउटपुट डेस्क पर कार्यरत हैं। वायस ओवर में माहिर अभितोष को क्रिकेट और एक्टिंग में भी गहरी दिलचस्पी है।

2 Comments »

  • नवीन कुमार त्रिपाठी said:

    बढ़िया लिखा है। सचिन की कसक इस बार पूरी हो इसकी हम सब लोग आशा करते हैं।

  • rachna said:

    sachin se ummeed to pura desh lagaye baitha hai lekin sachin ke shatak ka natija kabhi kabhi kafi ghatak hota hai team ke liye….. bas ye dua kijiye ki wo team ko world cup dilayen………