Home » साहित्य-सिनेमा-जीवन

शो परदेसी, कहानी देसी

30 January 2017 No Comment
टीवी स्टोरी : changing trends
– चण्डीदत्त शुक्ल * dainik bhaskar से साभार .
टेलीविजन की दुनिया में बदलते ट्रेंड खासे दिलचस्प हैं। इन दिनों दो टीवी शोज चर्चा में हैं।उनके किरदार भारतीय हैं, हालात भी देसी हैं, लेकिन ऑरिजिनल फॉर्मेट है पूरी तरह परदेसी!
टीवी इंडस्ट्री लगातार बदल रही है। अब तक हमने देखा कि विदेशी टीवी शोज़ की तर्ज (बाकायदा राइट्स खरीदकर) पर भारतीय टीवी प्रोडक्शन कंपनियों ने `इंडियन आइडल’, `कौन बनेगा करोड़पति’, `क्या आप पांचवीं पास से तेज हैं’, `बिग बॉस’ जैसे शोज़ बनाए और टीआरपी व ऐड का मुनाफा बटोरा। हालांकि ये सभी कार्यक्रम रिएलिटी बेस्ड थे। `24′ सरीखा एक थ्रिलर-फिक्शन भी सामने आया। इस सबके बीच नई खबर ये है कि दो विदेशी कार्यक्रमों का पूरी तरह भारतीय घरेलू सेटअप में रूपांतरण किया जा रहा है, जो रिएलिटी नहीं, बल्कि फिक्शन शो हैं! दिलचस्प एंगल ये कि दोनों शो का आधार कॉमेडी है।
स्टार प्लस ने हॉलीवुड के टीवी शो `एवरीबडी लव्स रेमंड’ के एडॉ़प्शन की योजना बनाई है। हिंदी में इसका नाम `सुमित संभाल लेगा’ होगा। इसके लिए चैनल ने ऑरिजिनल शो के लेखक स्टेव स्क्रोवेन को हायर किया है। भारतीय टीवी इंडस्ट्री के लिए यह भी नई खबर है कि किसी विदेशी सीरीज को भारतीय रंग-ढंग में ढालने के लिए मूल लेखक की मदद ली जाए।
स्क्रोवेन कहते हैं, `मैं बहुत खुश हूं। हिंदी में शो बनाते समय भी मेरी सेवाएं ली जा रही हैं। इससे कांसेप्ट का `सोल’ बरकरार रहेगा।’ बता दें कि स्क्रोवेन की देखरेख में हिंदी लेखक सीरियल का स्क्रीन-प्ले गढ़ने में जुट गए हैं। जल्द ही इस धारावाहिक का प्रसारण स्टार प्लस पर होगा। कलाकारों का चयन पटकथा तैयार होने के बाद किया जाएगा।
इसके अलावा, बिग मैजिक ने यूएस के चर्चित प्रोडक्शन हाउस वार्नर ब्रदर्स के पॉपुलर शो `द मिडल’ के राइट्स खरीदे हैं और इसे देसी ढांचे में `टेढ़ी मेढ़ी फैमिली’ नाम से ढाल दिया है। शुरुआत में ये धारावाहिक 24 कड़ियों में दिखाया जाएगा। बोधि ट्री प्रोडक्शन द्वारा निर्मित सीरियल में एक ऐसी फैमिली की कहानी दिखाई गई है, जिसके सभी सदस्य अतरंगी हैं। स्टैंडअप कॉमेडियन सलोनी, टीवी कलाकार अमि त्रिवेदी, इकबाल आज़ाद, बाल कलाकार सुशांत मोहिंद्रा और नन्हे अदाकार धार्मिक ने प्रमुख भूमिकाएं निभाई हैं।
अमि बताती हैं, `एक वर्किंग लेडी को घर संभालने में दिक्कतों का सामना हमेशा करना पड़ता है। उसके लिए सबको खुश रखना बड़ी चुनौती होती है और वह भी तब, जब घर के सदस्य खासे शैतान हों।’ अमि का इशारा `टेढ़ी-मेढ़ी फैमिली’ के मेंबर्स की ओर है। वे कहती हैं, `सलोनी मेरी बेटी का किरदार निभा रही हैं। ऑन स्क्रीन इनकी उधम देखकर मैं भी हंसने को मजबूर हो जाती हूं। हालांकि शॉट ओके होने के बाद सलोनी शांत रहती हैं और अपनी पढ़ाई में जुट जाती हैं। इसी तरह धार्मिक भी क्यूट हैं और मुस्कुराते हुए शॉट देते हैं।’ अमि वर्किंग लेडी हैं, इसलिए उन्हें सीरियल में अंजली का किरदार निभाने में खास मुश्किल नहीं हुई। वे बताती हैं, `हर वर्किंग लेडी की सुबह एक जैसी होती है। मैं जो काम घर में करती हूं, वही सीरियल में भी कर रही हूं।’
इकबाल आज़ाद कहते हैं, `जब कोई दूसरा इंसान केले के छिलके पर फिसलकर गिरता है तो हमें हंसी आती है, जबकि हम खुद डगमगा जाते हैं तो बुरा लगता है। `टेढ़ी मेढ़ी कहानी’ में चूंकि दूसरे के घर की परेशानियां हैं, इसलिए सभी इसे एंज्वाय कर रहे हैं। मैं घर का मुखिया हूं, जो अपने तीन बच्चों की हरकतों से परेशान रहता है। इसके बावजूद वह कोशिश करता है कि पत्नी को घर और दफ्तर संभालने के काम में ज्यादा दिक्कत न हो।’
वार्नर ब्रदर्स के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट एंड्र्यू जेन मानते हैं कि सारी दुनिया के परिवार एक जैसे हैं। उनके आपसी रिश्ते, मुश्किलें, खींचतान – सब एक रंग में रंगे हैं, इसलिए ऑरिजिनल कहानी भले अमेरिकी बैकड्रॉप की हो,  नए रूप में `मिडिल’ भारतीय दर्शकों के दिल पर भी छा जाएगा।

Comments are closed.