Home » विचार

तीन दिन बाद हो जाएगी आपको फांसी…

27 April 2011 No Comment

थोड़ा डराता, समझाता, झिंझोड़ता एक संदेश

ये ई-मेल संदेश हमें भेजा है  Belgium से चंद्रशेखर पति त्रिपाठी ने। उन्हें भी किसी ने भेजा था। यकीनन, नए तरीके से कुछ ज़रूरी बातें इस इलेक्ट्रॉनिक संदेश में कही गई हैं। कितनी सही हैं और कितनी उपयोगी, इसका फैसला चौराहा के पाठक ही करें : मॉडरेटर

जिसने जन्म लिया है, उसे एक दिन अवश्य मरना भी है, आपको भी तीन दिन बाद मरना है। 3 दिन बाद आपको फांसी दे दी जाएगी।  आपकी मौत निश्चित है….

अब आप उस मौत के दर्द को महसूस कीजिए…आपका परिवार और सबकुछ छूट जाएगा…क्या आप अपने गले मे फांसी का फन्दा सोच कर कांप गए?

अब सोचो, भगत सिंह जैसे अनगिनत शहीदों को, जो हंसते-हंसते देश के लिए फांसी पर चढ़ गए थे… महसूस करो उनके दर्द को और देखो आज के भ्रष्टाचार से भरे भारत को, क्या ऐसा भारत बनाने के लिए उन्होंने जान की कुर्बानी दी थी…अब मरने की कल्पना से बाहर आइए और सोचिए…

जब वो लोग देश के लिये मर सकते हैं, तो क्या आप देश के लिए जी भी नहीं सकते? देश के लिए जिएं  और अच्छा भारत बनाएं,  अपने आप से शुरुआत  करें. आप बदलेंगे तभी देश बदलेगा .

भगवान आपको लम्बी उम्र दे…अब एक और कल्पना कीजिए…

आप लम्बी उम्र जिएं,  लेकिन ना आप बदलें,  ना देश बदले, 20-25 साल बाद आपके बच्चे, पोते, नाती सब एक ऐसे देश मे जी रहे हों, जिसकी हालत सोमालिया आदि देशों से भी बदतर है, बेहिसाब आबादी है, हर तरफ मारकाट मची है,  कोई कानून नहीं है,  जंगलराज की सी हालत है , सभी जातियां कबीलों की तरह लड़ रही हैं, भूख से बेहाल गरीब अमीरों को लूट रहे हैं, अमीर उनपर गोलियां  चला रहे हैं,  एक पल का भी भरोसा नहीं है—कब कौन आपके बच्चों को अनाथ कर दे या बच्चों का अपहरण कर ले.

क्या आप अपने बच्चों को ऐसा भारत देना चाहते हो? आप अपने  बच्चों को हर चीज देते हैं–अच्छी शिक्षा , अच्छे कपड़े, अच्छे गेजेट्स….

फिर क्या आप उन्हें अच्छा भारत नहीं देंगे?

एक लाख अस्सी हजार करोड़  (18,00,00,00,00,000) का 2G स्पेक्ट्रम घोटाला, सत्तर हजार करोड का CWG घोटाला जैसे अनेक घोटालों ने देश को हिला कर रख दिया है. और आप चुपचाप हैं, आप कर भी क्या सकते हैं?

आप सबकुछ कर सकते है, आप ही ने उन नेताओं को वोट देकर नेता बनाया था…आप क्या क्या कर सकते हैं ?

1. देश मे भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त कानून (जन लोकपाल) बनाने के लिये “भारत बनाम भ्रष्टाचार”  के बेनर तले देश में एक अन्दोलन चल रहा है जिसका नेतृत्व गणमान्य लोग कर रहे  हैं (अधिक जानकारी के लिये साइट देखें  http://www.indiaagainstcorruption.org/)

2. लोकतंत्र मे आप सबसे ताकतवर  हैं क्योंकि आपके वोट से सरकार बनती है,  सोचसमझ कर वोट दें ,  सिर्फ जाति और धर्म के आधार पर वोट ना दें। भारत के सभी सभ्य और ईमानदार लोग भ्रष्टाचार  के खिलाफ एकजुट होकर एक वोट बैंक बना रहे हैं, आप उसमें  अपने आप को रजिस्टर करें  (http://voteforindia.org/).

3. अगर आप फेसबुक का उपयोग करते हैं तो जुड़ जाएं  http://www.facebook.com/IndiACor  से

4. शक्ति संघे कलयुगे ( कलयुग में संगठन ही सबसे बड़ी  शक्ति है) , आज देश के सभी भ्रष्ट लोग (20% ) संगठित हैं, जबकि हम सभी ईमानदार ( 80%) लोग बिखरे पड़े हैं, जिस से भ्रष्ट लोग हावी हैं ,  और हम लोगों को संगठित नहीं होने देते, हमे धर्म, जाति, क्षेत्र आदि के नाम पे लड़वाते हैं, जिससे हम एक ना हों तथा देश की अधिकतर आबादी अनपढ़  बनी रहे। शोषित होने के लिए बाध्य रहे। आप संगठित बनो, अपने दोस्तों को, पड़ोसियों को इस अन्दोलन के बारे में बताएं   (फूट डालो और राज करो की कुनीति पहले अंग्रेज अपनाते थे, अब ये नेता अपना रहे हैं)

इलस्ट्रेशन साभार : http://www.indiabuzzing.com

Comments are closed.