Home » Archive

Articles Archive for April 2012

चर्चाघर »

[13 Apr 2012 | Comments Off on एक अनूठा फैशन शो | ]
एक अनूठा फैशन शो

मुंबई में पिछले दिनों अपने ढंग के  एक अनोखे  तरह के  फैशन शो का आयोजन हुआ. जिसमें डिजायनर ब्रांड सत्या पॉल  और पूर्व मिस इंडिया और पेंटर अंजना कुठियाला दोनों ने मिलकर कामयाब महिलाओं को सम्मानित किया. इस इवेंट में जिन १३ महिलाओं की पेंटिंग्स का अनावरण किया गया. उनमें मुख्य हैं जयपुर की राजकुमारी दीया कुमारी, वंदना मलिक, प्रिया कटारिया  पुरी, सबा अली खान, सोना गोयल, पूनम सेठी,  साक्षी प्रधान, संगीता मेहता, रेणुका सिंह,  स्वाति पंड्या सूद, अनुकांत दुबे और बॉलीवुड पर राज्य करने वाली अभिनेत्री विद्या बालन. ये …

चर्चाघर, है कुछ खास...पहला पन्ना »

[13 Apr 2012 | Comments Off on विश्वास है, विश्वास है, हमको उजालों की आस है… | ]
विश्वास है, विश्वास है, हमको उजालों की आस है…

राजधानी दिल्ली के सीरीफोर्ट आडिटोरियम में गीत — संगीत का एक कार्यक्रम हुआ जिसे आयोजित किया था ‘विश्वास’ नाम की एक संस्था ने. जो की पिछले ६ सालों से विकलांग बच्चों के स्वास्थ्य, कल्याण व अन्य बुनियादी आवश्यकताओं के लिए काम कर रही है इसी गीत-संगीत के कार्यक्रम में लोकप्रिय गायक कैलाश खेर ने विशेष रूप से लिखे इस एंथम ‘विश्वास है विश्वास है हमको उजालों की आस है कह दो अंधेरों से चल पड़े हैं हम’ को बच्चों के साथ मिलकर गाया. गीतकार प्रसून जोशी के लिखे इस गीत …

विचार, है कुछ खास...पहला पन्ना »

[12 Apr 2012 | One Comment | ]
शांकुतलम् के बंद होने का मतलब…

– देवाशीष प्रसून
शाकुंतलम थियेटर बंद हो गया है। यह दिल्ली के प्रगति मैदान जैसी शांत जगह पर पिछले तीन दशकों से लगातार चल रहा था। शाकुंतलम थियेटर, याने सिनेमाघरों के बीच शांत स्वभाव के मध्यवर्गीय, सभ्य, पढ़े-लिखे लोगों की पहली पसंद। भारत सरकार के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के तहत चलने वाले इंडिया ट्रेड प्रोमोशन ऑर्गनाइजेशन का प्रबंधन इसको और चलाते रहने की जरूरत नहीं समझता और इस कारण से इसको बंद करके कॉनफ्रेंस हॉल बनवाना चाहता है। जो लोग दिल्ली में नहीं रहते और शाकुंतलम थियेटर से वाकिफ नहीं …