Home » Archive

Articles in the कैमरा बोलता है… Category

कैमरा बोलता है..., दिल के झरोखे से... »

[6 Feb 2017 | Comments Off on ‘नाम शबाना’ में तापसी पन्नू का एक्शन पैक अवतार | ]
‘नाम शबाना’ में तापसी पन्नू का एक्शन पैक अवतार

नाम शबाना फिल्म में एक्शन पैक अवतार में तापसी पन्नू दिखने वाली है। दर्शको की उत्सुहुकता इस फिल्म के प्रति और भी बढ़ गयी है । इन्टरनेट पर नाम शबाना सिज़ल नाम का विडियो रिलीज किया गया है, जिसमें तापसी का अंडर कवर एजेंट बनने के लिए ली गयी ट्रेनिंग की झलक देखने को मिली।
सन 2016 की सुपरहिट फिल्म बेबी का पहला भाग नाम शबाना फिल्म में देखने को मिलेगा। नीरज पांडे निर्देशन कर रहे हैं और अक्षय कुमार मुख्य भूमिका में नजर आएंगे। बेबी फिल्म में तापसी पन्नू की …

कैमरा बोलता है..., दिल के झरोखे से..., साहित्य-सिनेमा-जीवन, है कुछ खास...पहला पन्ना »

[6 Feb 2017 | Comments Off on नक्सलवाद पर एक और फिल्म – 9 o’ क्लॉक | ]
नक्सलवाद पर एक और फिल्म –  9 o’ क्लॉक

मुंबई डेस्क । नई फिल्म 9 o’ क्लॉक का ट्रेलर लॉन्च कर दिया गया है।
नक्सलवाद पर आधारित इस फिल्म का निर्देशन अमृत राज ठाकुर ने किया है, जबकि जी. शंकर निर्माता हैं। यूपी के गोंडा शहर में फिल्म की शूटिंग की गई है। फिल्म की पब्लिसिटी का ज़िम्मा अश्वनी शुक्ला ने संभाला है।
फिल्म में थिएटर आर्टिस्ट देवव्रत सिंह ने प्रभावी अभिनय किया है। वे शूद्र में वैश्य का किरदार निभा चुके हैं। फिल्म में अरुण बख्शी, बांग्ला कलाकार पार्थो प्रतीम बनर्जी, कैलाश चौहान, संतोष श्रीवास्तव भी नज़र आएंगे। टेलीवुड अभिनेत्री …

कैमरा बोलता है..., चर्चाघर, साहित्य-सिनेमा-जीवन, है कुछ खास...पहला पन्ना »

[30 Jan 2017 | Comments Off on अफजल गुरु के बेटे पर आधारित नहीं है ग़ालिब | ]
अफजल गुरु के बेटे पर आधारित नहीं है ग़ालिब

फिल्म की कहानी इन्स्पायर्ड है… : धीरज मिश्र

अब तक तारीफ ही मिली,  पहली बार भला-बुरा सुन रहा…
मुंबई डेस्क। फिल्म लेखक धीरज मिश्र लगातार तीन देशभक्ति फ़िल्में लिखकर नए भारत कुमार के रूप में उभरे हैं। उनकी फिल्म मैं खुदीराम बोस हूँ दुनियाँ भर में फेस्टिवल में घुमने के बाद अगले वर्ष रिलीज होगी और अब वो नयी फिल्म की पटकथा रचने में जुट गए हैं, जिसका नाम है – “ग़ालिब ‘।

ये पूछने पर कि क्या यह मिर्जा ग़ालिब के जीवन पर आधारित है, धीरज ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया कि आप जानते ही …

कैमरा बोलता है..., है कुछ खास...पहला पन्ना »

[26 May 2011 | 2 Comments | ]
ये महज फोटोग्राफ नहीं हैं…

यह चित्र नए नहीं हैं. इंटरनेट की दुनिया में टहलते हुए आने आक्सर ऐसे फोटो ग्राफ देखे होंगे. राजस्थान के मशहूर जर्नलिस्ट ईश मधु तलवार ने इन्ही चित्रों की इ-मेल भेजी, तो सोचा चौराहा के लिए साझा कर लूं.
चण्डीदत्त शुक्ल

कैमरा बोलता है..., है कुछ खास...पहला पन्ना »

[7 Apr 2011 | Comments Off on साभार सुलभ :हां, यूपी में होता है बेहतरीन थिएटर | ]
साभार सुलभ :हां, यूपी में होता है बेहतरीन थिएटर

हृषिकेश सुलभ। एक नाम, एक हस्ताक्षर। बिहार के पटना में रहते हैं और देश-दुनिया के थिएटर प्रेमियों की धड़कनों में बसते हैं। माटीगाड़ी जैसा नाटक लिखकर सुलभ जी ने रंग-समीक्षकों से लेकर दर्शकों तक का दिल जीता है। बेहद सरल स्वभाव के सुलभ पटना आकाशवाणी में कार्यरत हैं और ये उनका सबसे कमज़ोर और बचकाना इंट्रोडक्शन है, जो आपने मेरे ज़रिए पढ़ा। सच तो यह है कि उनका कृतित्व और व्यक्तित्व मुझ जैसे चौराहाछाप के शब्दों में सिमट ही नहीं सकता।
इन दिनों सुलभ जी लखनऊ में हैं, या शायद …